Pages

मिथिलाक पर्यायी नाँवसभ

मिथिलाभाषाक (मैथिलीक) बोलीसभ

Thursday, 29 March 2012

मैथिली साहित्यकार संक्षिप्त परिचय पात - ३

प्रो॰ (स्व॰) हरिमोहन झा
Prf. (Late)  HARIMOHAN  JHĀ







जन्म
१८ सितम्बर ‍१९०८ ई॰

जन्म स्थान
कुमर बाजितपुर, वैशाली, मिथिला, भारत

पिता
पं॰ (स्व॰)  जनार्दन झा "जनसीदन"

सद्गति
१९८४ ई॰

मैथिली मे प्रकाशित कृति
‍१) कन्यादान (‍उपन्यास,१९३३ ई॰, मैथिलीक पहिल फिल्मक आधार ग्रण्थ) 
२) द्विरागमन (‍उपन्यास, १९४३ ई॰) 
३) प्रणम्य देवता (‍व्यङ्ग्य कथा संग्रह, १९४५ ई॰) 
४) खट्टर ककाक तरंग (व्यङ्ग्य कथा संग्रह, ‍१९४८ ई॰) 
५) एकादशी (व्यङ्ग्य कथा संग्रह, ) 
६) रंगशाला (‍व्यङ्ग्य कथा संग्रह,१९४९  ई॰) 
७) चर्चरी (व्यङ्ग्य कथा संग्रह, ‍१९६० ई॰) 
८) जीवन यात्रा ( जीवनी, ‍१९८४ ई॰, मरणोपरान्त ‍१९८५ ई॰ मे साहित्य अकादमी पुरुस्कार) 
९) हरिमोहन झा रचनावली , भाग ‍१ - ४ (पहिल ३ भाग मे उपरोक्त रचना सभ संकलित, ४म भाग मे अप्रकाशित पद्य रचना सभक संकलन) 

No comments:

Post a Comment